Friday, July 31, 2015

♚ कुछ इस तरह बुनेंगे ��अपनी तकदीर के धागे, ��अच्छे अच्छे को झुकना पडेंगा ��हमारे आगे ♚

♚ कुछ इस तरह बुनेंगे ��अपनी तकदीर के धागे, ��अच्छे अच्छे को झुकना पडेंगा ��हमारे आगे ♚

No comments:

Post a Comment